नेता नहीं बनना चाहते थे लालू यादव, हींग बेचने वाले ने बदल दी जिंदगी

Jun 11 2019 11:15AM (IST)
नेता नहीं बनना चाहते थे लालू यादव, हींग बेचने वाले ने बदल दी जिंदगी

बिहार की राजनीति के पर्याय रहे लालू प्रसाद यादव एक ऐसे मुख्यमंत्री रहे जिसने चपरासी के आवास में रहकर राज्य सरकार चलाई और सालों तक बिहार की गद्दी पर राज किया.

विधायक, दो बार मुख्यमंत्री, लोकसभा सांसद, राज्यसभा सांसद और कैबिनेट मंत्री के रूप में सेवाएं दे चुके लालू यादव बचपन में नेता नहीं डॉक्टर बनना चाहते थे. हाथ से सिले हुए एक बनियान के सहारे बचपन गुजार देने वाले लालू यादव को भाषण देना और लोगों के बीच रहना बचपन से ही पसंद था लेकिन वो कभी राजनीति में नहीं आना चाहते थे. बल्कि वो डॉक्टर बनना चाहते थे. आज11 जून लालू यादव का जन्मदिन है, इस मौके पर हम बता रहे हैं उनसे जुड़े कुछ दिलचस्प पहलुओं के बारे में.

अपनी आत्मकथा ‘गोपालगंज से रायसीना’ में लिखते हैं, ‘स्कूल में दाखिले के बाद मैं डॉक्टर बनना चाहता था. लेकिन मेरे दोस्त बसंत ने बताया कि डॉक्टर बनने के लिए बायोलॉजी से पढ़ाई करनी होगी. इसके बाद मुझे पता चला कि प्रैक्टिकल के लिए मुझे मेंढकों की चीरफाड़ करनी पड़ेगी, जिससे मुझे नफरत थी. इसके बाद मैंने डॉक्टर बनने का इरादा छोड़ दिया.

’ हींग बेचने वाले ने बदल डाली लालू की किस्मत

लालू का बचपन बदहाली में बीता. बचपन में कपड़े न होने के कारण लालू रोज नहीं नहा पाते थे. वहीं, ठंड के मौसम में गर्मी पाने के लिए उन्हें पुआल के बिस्तर पर सोना पड़ता था. खाने के लिए उनकी मां मोटे अनाज को उबालकर दूध में मिलाकर दे देती थीं और वो उसे ही स्वादिष्ट भोजन समझ खा जाते थे.

इन सब मुश्किलों के बाद भी लालू अपने बचपन को जी रहे थे. तभी एक घटना ने उनके जीवन को हमेशा के लिए बदलकर रख दिया. लालू बताते हैं कि उनके गांव में एक हींग बेचने वाला आया. जिसके झोले को लालू ने शरारतन कुएं में फेंक दिया. इसके बाद हींग बेचने वाले ने पूरा गांव अपने सिर पर उठा लिया. इस दौरान लालू की मां ने उनकी शरारतों से परेशान होकर उन्हें बड़े भाई मुकुंद के साथ पटना जाने को कहा.

मुकुंद उस समय पटना चपरासी आवास में रहा करते थे. लालू का गांव छोड़ने का मन नहीं था फिर भी मां के जिद के सामने उनकी एक न चली और पटना जाना पड़ा. बताया जाता है कि अगर हींग बेचने वाला नहीं आया होता तो शायद लालू उतनी जल्दी गांव से बाहर नहीं निकलते. हो सकता था कि बाद में निकलते ही नहीं और निकलते भी तो उनके जीवन की कहानी कुछ और ही होती.

...जब लालू ने पहली बार पहना जूता

पटना पहुंचने के बाद उनका दाखिला शेखपुरा के उच्च प्राथमिक स्कूल में हुआ. स्कूल में उन्होंने एनसीसी जॉइन की और तब उन्हें पहली बार जूता पहनने को मिला. उन्होंने एनसीसी ही इसलिए जॉइन की थी कि उन्हें पूरे कपड़े मिल सकें. क्योंकि एनसीसी के बच्चों को शर्ट, पतलून और जूते मिलते थे.

दिलचस्प बात यह भी है कि आधी से ज्यादा उम्र हेलिकॉप्टर में घूमने वाले लालू स्कूल टाइम में 10 किलोमीटर का सफर पैदल तय कर स्कूल पहुंचते थे. वो भाषण देने और दूसरों की नकल उतारने में माहिर थे. इस कला से वो पटना में भी पहले स्कूल और फिर कॉलेज में मशहूर हुए.

कॉलेज में वो लड़कियों के बीच काफी मशहूर थे. वो उन्हें लालू महात्मा कहकर पुकारती थीं क्योंकि उनकी छवि भी कुछ ऐसी ही थी. वो छात्रों की खास तौर पर लड़कियों की खूब मदद करते थे.

लालू का हिन्दी से लगाव

उन्हें हिन्दी और भोजपुरी से शुरू से ही प्यार रहा है. जब उन्हें एलएलबी की परीक्षा में अंग्रेजी में पेपर मिला तो उन्होंने परीक्षा देने से इनकार कर दिया जिसके बाद हिन्दी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं पेपर मुहैया कराया गया.

लालू से शादी को तैयार नहीं थे राबड़ी के चाचा

जून 1973 में लालू यादव की शादी पड़ोस के गांव की लड़की राबड़ी देवी से हुई. उस समय राबड़ी देवी की उम्र 14 साल थी. इस शादी को लेकर राबड़ी देवी के चाचा तैयार नहीं थे. एक टीवी कार्यक्रम में लालू बताते हैं कि राबड़ी देवी के चाचा उनसे शादी लेकर गुस्सा थे. उन्होंने अपना भाई यानी राबड़ी के पिता से कहा कि हमारी लड़की पक्के मकान में रही है और लड़के का मिट्टी का घर है. ऐसे में लड़की कैसे वहां रहेगी. हालांकि, अंत में वो मान गए लालू की शादी राबड़ी देवी से हो गई.

वीपी सिंह की सरकार को गिरने से बचाया

1990 में ऐसा लगा कि देवीलाल वीपी सिंह सरकार से समर्थन वापस ले लेंगे और लालू देवीलाल गुट के नेता थे. इसके वाबजूद वो रातों रात दिल्ली पहुंचे और वीपी सिंह को एक ऐसा फॉर्मूला दिया जिसके बाद देवीलाल चाहकर भी समर्थन वापस नहीं ले पाए. यही वो समय था जब केंद्र की वीपी सिंह की सरकार बचाने के लिए मंडल आयोग की सिफारिश कोलागू किया गया और पिछड़ों के लिए 27 फीसदी आरक्षण लागू किया गया. दरअसल, देवीलाल पिछड़ों का नेतृत्व करते थे, ऐसे में वीपी सिंह से मंडल आयोग की सिफारिशों को लागू करवाकर लालू ने उनकी छवि एक पिछड़े नेता के रूप में स्थापित की.

रातों-रात पत्नी को बनाया मुख्यमंत्री

पहली बार बिहार के मुख्यमंत्री बनने के बाद लालू 3 महीने चपरासी क्वार्टर में ही रहे जहां स्कूल के दिनों में रहा करते थे लेकिन अधिकारियों के बार बार समझाने के बाद उन्होंने अपना ठिकाना बदला और मुख्यमंत्री अवास में आ गए. 1990 से लेकर 1997 तक लालू दो बार बिहार के मुख्यमंत्री रहे.

प्रतिक्रिया दें



प्रमुख ख़बरें

समुद्र में तैराकी करने वाले हो जाएं सावधान, बढ़ सक...

समुद्र में तैराकी करने वाले हो जाएं सावधान, बढ़ सकता है संक्रमण का खतरा

समुद्र में तैरने से त्वचा माइक्रोबायोम में बदल जाती है, जिससे कान और त्वचा पर संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला है.

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 39 हजार के नीचे, निफ...

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्‍स 39 हजार के नीचे, निफ्टी में भी गिरावट

भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का दौर जारी है. मंगलवार को एक बार फिर शुरुआती मिनटों में सेंसेक्‍स 150 अंक तक टूट कर 39 हजार अंक के नीचे

मायवाती पर चंद्रशेखर का तंज, बोले- बहकावे में नहीं...

मायवाती पर चंद्रशेखर का तंज, बोले- बहकावे में नहीं आने वाला बहुजन समाज

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती पर हमला बोला है. परिवारवाद का जिक्र करते हुए का चंद्रशेखर ने कहा कि कांशीराम चाहते तो वो भी अपनी विरासत अपने परिवार को दे सकते थे.

सलाखों के पीछे रहेगा गुरमीत राम रहीम, खारिज हो सकत...

सलाखों के पीछे रहेगा गुरमीत राम रहीम, खारिज हो सकती है पैरोल की अर्जी

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बड़ा झटका लग सकता है. पत्रकार हत्या और साध्वियों के साथ रेप के दोषी राम रहीम की पैरोल की अर्जी खारिज हो सकती है.

कोलकाता पुलिस ने चार संदिग्धों को किया गिरफ्तार, I...

कोलकाता पुलिस ने चार संदिग्धों को किया गिरफ्तार, IS आतंकी होने का दावा

पश्चिम बंगाल में मचे राजनीतिक बवाल और हिंसा के दौर के बीच वहां से चौंकाने वाला मामला सामने आया है. यहां कोलकाता से चार संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है,

J-K: पुलवामा में सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन, आतंकि...

J-K: पुलवामा में सुरक्षाबलों का सर्च ऑपरेशन, आतंकियों के छिपे होने की खबर

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया है. सुरक्षाबलों को पुलवामा के तुललुहल गांव में आतंकियों के छिपे होने का इनपुट मिला है. इसके बाद पूरे इलाके को घेर लिया गया है और सर्च ऑपरेशन चलाय...

मेष

आपके लिए आज के दिन कुछ ऐसा जरूरी है कि आप उन लोगों से दूरी बनाए रखें जो आपकी पीठ पीछे आपके लिए सिरदर्द बने हुए हैं। हो सकता है कोई व्यक्ति आपके रक्तचाप को उत्तेजित करने के लिए ऐसा तनाव पैदा करे कि आप सब काम छोड़कर उसके पीछे लग जाएं। इन बातों से आपका अपना ही समय नष्ट होगा।

और पढ़ें

वृष

आज का दिन फायदेमंद साबित होगा इसलिए कोशिशें करते रहें। शरीर अस्वस्थ हो सकता है इसलिए खाने-पीने में सावधानी रखें। स्टूडेंट्स को सलाह दी जाती है कि कुछ समय के लिए दोस्तों की महफिल लगाने की बजाय अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें। आपकी आकर्षक पर्सनैलिटी के कारण लोग आपकी तरफ आकर्षित रहेंगे। शाम के समय घर पर बिताना अच्छा रहेगा।

और पढ़ें

मिथुन

आज का दिन आपके लिए काफी उपयोगी रहेगा। निवेश से उतना फायदा नहीं मिलेगा जितना आप सोच रहे थे। ऐसे दोस्तों की सलाह ले लें जो शेयरों के बारे में अच्छी जानकारी रखते हैं। कई ऐसे लोगों से मुलाकात हो जाएगी जो आपको अच्छी सलाह देने के लिए आगे आएंगे।

और पढ़ें

कर्क

अपने मौजूदा संकट को टालने के लिए आप अपने आसपास के लोगों से सलाह-मशविरा कर सकते हैं। कुछ प्रभावशाली लोग आपको ऐसा परामर्श दे सकते हैं कि एकाएक ही आपके अन्दर एक नई स्फूर्ति का संचार होगा। आपके उलझे हुए दिमाग में भी कुछ स्पष्ट तस्वीर उभर सकती है। यह सब आपके कष्ट-निवारण के लिए एक चमत्कारी संकेत हो सकता है।

और पढ़ें

सिंह

पारिवारिक विषमताएं सिर उठा सकती हैं। मान-सम्मान भी बढ़ेगा और अप्रत्याशित लाभ की प्राप्ति भी होगी। आर्थिक लेन-देन में सावधानी बरतें। किसी से अनबन के कारण व्यवहार व विचारों में परिवर्तन करना होगा। आपके द्वारा किए गए कार्यों का विरोध होगा। परिवार की समस्याओं के सम्बंध में कोई गलत निर्णय लेना कठिन होगा।

और पढ़ें

कन्या

क्लेश कार्य और झगड़े वाला गोचर आज के दिन भी जारी रहेगा। जिन लोगों पर आप भरोसा करेंगे, वही लोग आपको देखकर अपना रास्ता बदल लेंगे। यदि आपके पास यथेष्ट शक्ति और धैर्य का अभाव है तो उसे एकजुट करने में अपनी ताकत को लगा सकते हैं। अपनी लड़ाई आपको अकेले ही लड़नी होगी।

और पढ़ें

तुला

सहज ही सभी काम समय पर बनते नजर आएंगे। अच्छे दिनों का संयोग मन को प्रफुल्लित करेगा। कार्यसाधक गतिविधियां होंगी और वित्तीय लाभ भी यथेष्ट रूप में होगा। खर्च पर नियंत्रण रखना जरूरी है। व्यापार व व्यवसाय से सम्बंधित कई अनुभव होंगे। व्यापार व व्यवसाय से जुड़े जातकों की विभिन्न क्षेत्रों में साख बढ़ेगी। यात्राएं होंगी।

और पढ़ें

वृश्चिक

उत्सव व त्योहार में सम्मिलित होने के अवसर प्राप्त होंगे। अच्छे भोजन से स्वास्थ्य में वृद्धि होगी। मित्रों व बंधुजनों के कारण तनाव होने से घर में भी क्लेश की स्थिति पैदा हो सकती है। शुभ समाचार का आना लगातार जारी रहेगा, इसलिए वही कार्य करें, जिसके बनने की उम्मीद हो। संतान के प्रति थोड़ा चिंतित होंगे पर समझदारी से काम लें।

और पढ़ें

धनु

आज आपको अपने काम को पूरा करने में किसी ठोस सहारे की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपका अपना आत्मविश्वास ही अकेले ही इतना सबल और सक्षम बनेगा कि आप एक ही झटके में सफलता के द्वार पर खड़े होंगे। इस समय आपको कारोबार और व्यापार में अच्छा लाभ भी होगा और किसी सुनियोजित कार्य में प्रगति होने से संतोष भी मिलेगा।

और पढ़ें

मकर

कुछ समय के लिए आपके ऊपर बढ़ते खर्च का बोझ लगातार जारी है । आज भी कुछ ऐसी ही संभावनाएं दिखाई पड़ रही हैं, आपके स्वास्थ्य और घरेलू जरूरत को पूरा करने में आपका बजट डामाडोल हो सकता है। ऐसी स्थिति में अपनी जमा-पूंजी को बाहर निकालने में संकोच न करें, क्योंकि समय की मांग यही है।

और पढ़ें

कुंभ

आज का दिन कुछ सुस्त और धीमी गति से शुरू होगा। सुबह आप जिन बातों को लेकर थोड़ा परेशान रहेंगे, दोपहर में वही बातें आपको खुशी देंगी। ऑफिस में अपनी जगह बनाने के लिए सूझ-बूझ से काम लेना होगा। बुद्धि से जुड़े कामों के नतीजे शाम तक मिलने लगेंगे। नई डील फाइनल करने का काम कुछ समय के लिए टाला जा सकता है।

और पढ़ें

मीन

राजनैतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति होगी। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। कार्यक्षेत्र में रुकावटों का सामना करना पड़ सकता है। मनोरंजन के अवसर प्राप्त होंगे। व्यर्थ की भागदौड़ रहेगी।

और पढ़ें

स्पॉटलाइट